Markandeya-Purana-Gita-Press-Hindi-Book-PDF


मार्कण्डेय पुराण हिन्दी पुस्तक के बारे में अधिक जानकारी | More details about Markandeya Purana Hindi Book



इस ग्रन्थ का नाम है : संक्षिप्त मार्कण्डेय पुराण | इस ग्रन्थ के मूल रचइता है: महर्षि मार्कण्डेय | इस पुस्तक के प्रकाशक हैं : गीता प्रेस, गोरखपुर | इस पुस्तक की पीडीऍफ़ फाइल का कुल आकार लगभग 255 MB है | इस पुस्तक में कुल 316 पृष्ठ हैं | आगे इस पेज पर "संक्षिप्त मार्कण्डेय पुराण" पुस्तक का डाउनलोड लिंक दिया गया है जहाँ से आप इसे मुफ्त में डाउनलोड कर सकते हैं.


Name of the book is : Sankshipt Markandeya Purana | This Grantha is originally written by : Maharshi Markandeya | This book is published by : Gita Press, Gorakhpur | PDF file of this book is of size 255 MB approximately. This book has a total of 316 pages. Download link of the book "Sankshipt Markandeya Purana" has been given further on this page from where you can download it for free.


पुस्तक के संपादकपुस्तक की श्रेणीपुस्तक का साइजकुल पृष्ठ
गीता प्रेस, गोरखपुरधर्म, भक्ति, पुराण255 MB316



पुस्तक से : 

'मार्कण्डेय पुराण' का 18 पुराणों की गणना में 7वाँ स्थान है। इसमें जैमिनि - मार्कण्डेय संवाद एवं मार्कण्डेय ऋषि का अभूतपूर्व आदर्श जीवन-चरित्र, राजा हरिश्चन्द्र का चरित्र-चित्रण, जीवके जन्म-मृत्यु तथा महारौरव आदि नरकोंके वर्णन सहित भिन्न-भिन्न पापोंसे विभिन्न नरकोंकी प्राप्ति का दिग्दर्शन है। इसके अतिरिक्त इसमें सती मदालसा का आदर्श चरित्र, गृहस्थों के सदाचारका वर्णन, श्राद्ध कर्म, योगचर्या तथा प्रणव की महिमा पर महत्त्वपूर्ण प्रकाश डाला गया है। इसमें देवताओं के अंश से भगवती महादेवी का प्राकट्य और उनके द्वारा सेनापतियों सहित महिषासुर वधका वृत्तान्त भी विशेष उल्लेखनीय है। इसमें श्रीदुर्गासप्तशती सम्पूर्ण - मूल के साथ हिन्दी अनुवाद, माहात्म्य तथा पाठ की विधिसहित विस्तार से वर्णित है।

 

पुराण भारत तथा भारतीय संस्कृति की सर्वोत्कृष्ट निधि हैं। ये अनन्त ज्ञानराशि के भण्डार हैं। इनमें इहलौकिक सुख-शान्ति से युक्त सफल जीवन के साथ-साथ मानवमात्र के वास्तविक लक्ष्य – परमात्मतत्त्व की प्राप्ति तथा जन्म-मरणसे मुक्त होने का उपाय और विविध साधन बड़े ही रोचक, सत्य और शिक्षाप्रद कथाओं के रूप में उपलब्ध हैं। इसी कारण पुराणों को अत्यधिक महत्त्व और लोकप्रियता प्राप्त है; परन्तु आज ये अनेक कारणों से दुर्लभ होते जा रहे हैं।

 

 (नोट : उपरोक्त टेक्स्ट मशीनी टाइपिंग है, इसमें त्रुटियां संभव हैं, अतः इसे पुस्तक का हिस्सा न माना जाये.)


डाउनलोड लिंक :

"संक्षिप्त मार्कण्डेय पुराण" हिन्दी पुस्तक को डाउनलोड करने के लिए नीचे दिए गए डाउनलोड बटन पर क्लिक करें |

To download "Sankshipt Markandeya Purana" Hindi book simply click on the download button provided below.


Download PDF (255 MB)


If you like the book, we recommend you to buy it from the original publisher/owner.



यदि इस पुस्तक के विवरण में कोई त्रुटि है या फिर आपको इस पुस्तक से संबंधित कोई भी सुझाव अथवा शिकायत है तो उस सम्बन्ध में हमें यहाँ सूचित कर सकते हैं